Participating partners:


    ये दिवाली की रांगोली

  • Akshay Bhandari
    Akshay Bhandari
    • Posted on November 8, 2015
    ये दिवाली की रांगोली
    ये दिवाली की रांगोली

    दिवाली आई है

    उमंग हृदय में भरकर कुछ कहने आई है

    कहती कुछ दिवाली की रांगोली कुछ

    संदेशा लेकर आई है।

    मन में आशा भरकर धर्म के साथ भाईचारा फैला दो

    ज्ञान का दीपक मन में प्रकाश फैलाए

    घर - घर एक संदेशा फेैला दो।

    रंगो से भरी रांगोली पटाखों पर कहती है कुछ

    पटाखे करते प्रदूषण , अपनी मातृभूमि की सूनो पुकार

    हर घर घर खुशियों हो जाए,

    ये दिवाली की रांगोली कुछ कहने आई है।

    मेरे द्वारा रचना स्वरचित है

    नाम अक्षय आजाद भण्डारी राजगढ़ जिला धार मध्यप्रदेश

    मो.9893711820
    3 People like this
    Post Comments Now
    Comments