Participating partners:


    नींद और जिंदगी ..

  • Amit k. Pandey 'Shashwats'
    Amit k. Pandey 'Shashwats'
    • Posted on September 16, 2017
    नींद और जिंदगी ..
    आना और चले जाना, नींदों का काम है , आके और जा के भी बस जाना , जिन्दों का काम है .(१) .. ख्वाब बुनने की दरकार ना थी फिर भी , हक़ में ला देना , नाज़नीनों का काम है .(२)..ख़ुशी मयस्सर ही होती रहेगी तेरे करम से , हाथ आना तो आखिर ग़मगीनों का काम है (३) ..नींद और जिंदगी देना होती आदमी की खुद दरियादिली , ले लेना तो शैतानियों का काम है .(४).नींद से जिंदगी बड़ी सुखदाई लगे , जिंदगी को नींद ही सुखदायी लगे , , , नींद और जिंदगी में जीवन आकाश व् रोशनाई है .(५))...
    1 People like this
    Post Comments Now
    Comments