Participating partners:


    पं. जवाहरलाल नेहरू पथ, धूल उड़ाता हुआ :

  • Ghanshyam Bairagi
    Ghanshyam Bairagi
    • Posted on August 24, 2018
    पं. जवाहरलाल नेहरू पथ, धूल उड़ाता हुआ :

    भिलाई इस्पात संयंत्र मेन गेट जाती है,
    महज एक किलोमीटर की यह सड़क :

    भिलाई : भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के समय में ही स्थापित भिलाई इस्पात संयंत्र, यहीं का मेन गेट को जाने वाली प्रमुख सड़क ; जो उन्ही के नाम में रखा गया है. आज धूल भरा हुआ है !
    जहाँ हजारों की संख्या में संयंत्र के कर्मी शुबह 06 बजे से रात 10 बजे तक, चार पाली में संयंत्र को निरंतर आते-जाते रहते हैं.
    यह कर्मियों की मजबूती है, कि ट्वीन-सिटी में क्लीन रहने वाले श्रमिक, काम में जानें से पहले ही धूल-धूल हो जाते हैं.
    भिलाई के सेक्टर - 01 चौक, जिसे आज इप्क्यूपमेंट ( मुर्गा चौक पुराना ) चौक कहा जाता है. रायपुर से खुर्सीपार गेट होते हुए ( बायपास ) इसी मार्ग से रिसाली, पाटन और जिला मुख्यालय धमतरी, राजनांदगांव ( नागपुर की ओर ) और बालोद ( बस्तर की ओर ) को जोड़ती है. जिसमें बड़ी ट्रकों का भी दिनभर आना-आना लगा रहता है.
    वहीं सैकड़ों ट्रकें प्रतिदिन संयंत्र के काम से भी जाती है. लेकिन, भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन का ध्यान इस ओर अभी तक नहीं गया है !
    संयंत्र प्रबंधन नें सभी 15 सेक्टरों के सड़कों के साफ-सफाई के लिए नियमित कामगार भी रखे हैं. फिर भी आज यह स्थिति ?
    गौर करने लायक बात यह है, कि इसी मार्ग में चौक से महज दो सौ मीटर की दूरी पर भिलाई इस्पात संयंत्र का "जनसंपर्क कार्यालय" है. जहाँ 'पास-सेक्सन" भी है. यहाँ भी लोगों का आना-जाना शुबह 10 बजे से शाम 05 बजे तक रहता है.
    आज बरसात का मौसम है, तो पानी बरस गई तो धूल बैठ गया ; या कभी-कभी कीचड़ की शक्ल में ट्रकों के पहियों से उड़ने लगता है ?

    Post Comments Now
    Comments