Participating partners:


    बदलते हैं हालात :

  • Ghanshyam Bairagi
    Ghanshyam Bairagi
    • Posted on September 20
    बदलते हैं हालात :

    नहीं बदलती दुनिया :

    अजीब दास्तान है ये,
    कभी मुस्कुराते
    जिसे देखकर हम ;
    कैसी खामोशी से पड़ा है.
    जिंदगी भी
    कुछ ऐसी ही होती है,
    जब कोई ;
    हमें छोड़कर चला जाता है.
    एक ये,
    जिसे बदला तो जा सकता है.
    एक वो,
    जिसे आज ही
    रुक्सत किया जाएगा.
    बदलती है दुनिया,
    ऐ ;
    बेपरवाह कहने वालों.
    बदलते हैं हालात,
    नहीं बदलती दुनिया. ।।

    Guest likes 2
    Post Comments Now
    Comments