Participating partners:


    मुद्दे वहीं है, विकास किसका हुआ :

  • Ghanshyam Bairagi
    Ghanshyam Bairagi
    • Posted on December 31, 2018
    मुद्दे वहीं है, विकास किसका हुआ :

    "भिलाईनगर" नहीं बन सका
    "रोल - मॉडल" !
    "भिलाई इस्पात संयंत्र" की तरह ?

    अब मुख्यमंत्री के,
    भिलाई आने से ही ;
    सुधरेंगे भिलाई की सड़कें :

    भिलाई : एशिया का सबसे बड़ा स्टील उत्पादक, छत्तीसगढ़ का भिलाई इस्पात संयंत्र आर्थिक दृष्टि से काफी सुदृढ हो चुका है.
    जहाँ प्रतिवर्ष उत्पादन में उत्तरोत्तर प्रगति हुई है, वहीं भिलाई इस्पात संयंत्र को लगातार प्रधानमंत्री ट्रॉफी प्राप्त होती रही है.
    लेकिन,
    'भिलाईनगर' , 'भिलाई इस्पात संयंत्र' की तरह 'रोल - मॉडल' नहीं बन सका !
    यहाँ, अपने स्टील नगर भिलाई के सौंदर्यीकरण, सड़क विकास सहित कई सामाजिक उत्तरदायित्व में स्पात संयंत्र का सामाजिक उत्तरदायित्व विभाग का काम कमजोर साबित हुआ है. जहाँ आज भी कई सेक्टर में सड़कें चलने लायक नहीं है, जहाँ स्कूल और पीजी कॉलेज भी स्थापित है.
    आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के भिलाई आगमन पर यह रंग - रोगन ! इसी की निशानदेही करती है ?
    और सिर्फ उसी ब्लॉक क्षेत्र में यह रंग-रोगन किया गया जहाँ मुख्यमंत्री का काफिला चलेगा.
    जब, भिलाई के 10 सेक्टर, कुर्सिपार, मरोदा, रिसाली, रुआंबांधा, हाॅस्पीटल सेक्टर स्थित है. जहाँ भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारी ही रहते हैं.
    5 People like this
    Ghanshyam Bairagi4 Guest Likes
    Post Comments Now
    Comments