Participating partners:


    दरअसल :

  • Ghanshyam Bairagi
    Ghanshyam Bairagi
    • Posted on January 4
    दरअसल :

    दरअसल,
    मैं ;
    चलता रहा
    करते तलाश
    मंजिलों की ।
    पर,
    मुसाफिर
    दुनिया भर की
    मैं ;
    खो गया
    कहीं तन्हाइयों में ।।

    - घनश्याम जी.बैरागी
    08827676333
    gbairagi.enews@gmail.com
    Post Comments Now
    Comments