Participating partners:


    किस्सा-ए-इश्क

  • samar bhaskar
    samar bhaskar
    • Posted on March 16
    किस्सा-ए-इश्क
    चाँद का चेहरा हर रात नूरानी नहीं होता|||
    जो बुझाता है तुम्हारी प्यास वो हमेशा पानी नहीं होता||
    नहीं मिली तेरे प्यार को तवज्जो तो कोई बात नहीं,,
    हर किस्सा-ए-प्यार एक कहानी नहीं होता |||
    5 People like this
    Post Comments Now
    Comments