Participating partners:


    रामकृष्ण परमहंस भारत के एक महान संत एवं विचारक थे

  • CHANDAN
    CHANDAN
    • Posted on May 25
    रामकृष्ण परमहंस भारत के एक महान संत एवं विचारक थे
    रामकृष्ण परमहंस भारत के एक महान संत एवं विचारक थे. इन्होंने सभी धर्मों की एकता पर जोर दिया. उन्हें बचपन से ही विश्वास था कि ईश्वर के दर्शन हो सकते हैं अतः ईश्वर की प्राप्ति के लिए उन्होंने कठोर साधना और भक्ति का जीवन बिताया. स्वामी रामकृष्ण मानवता के पुजारी थे. साधना के फलस्वरूप वह इस बात पर पहुँचे कि संसार के सभी धर्म सच्चे हैं और उनमें कोई भिन्नता नहीं. वे ईश्वर तक पहुँचने के भिन्न-भिन्न साधन मात्र हैं.
    मानवीय मूल्यों के पोषक संत रामकृष्ण परमहंस का जन्म 18 फरवरी 1836 को बंगाल प्रांत स्थित कामारपुकुर ग्राम में हुआ था. इनके बचपन का नाम गदाधर था. पिताजी के नाम खुदिराम और माताजी के नाम चन्द्रमणीदेवी था. उनके भक्तों के अनुसार रामकृष्ण के माता पिता को उनके जन्म से पहले ही अलौकिक घटनाओ और दृश्यों का अनुभव हुआ था.
    Post Comments Now
    Comments