Participating partners:


    मन की एकाग्रता

  • Vinod Kumar Singh
    Vinod Kumar Singh
    • Posted on August 10
    मन की एकाग्रता
    उलझें सवालों को सुलझाना अति जरूरी हैं, जिससे मन की एकाग्रता बनी रहें, अनसुलझे सवाल मन को विचलित कर देती हैं, अनसुलझे सवालों को सुलझाने के लिए मन को स्थिर करना होगा, बिना सुलझाये मन स्थिर हो ही नहीं सकता, संयम, धैर्य तथा शान्ति से ही सुलझाने की चेष्टा करनी चाहिए !
    Post Comments Now
    Comments (1)
    • Vinod Kumar Singh
      Prakash Anand ...MANN ke ekagrataa k leeye...chandra-dev ka mantra jaap karta hoon...wo bhee seerf do minute...magar maheene me ek baar keesee sailoon-hazaam ke dooqaan par head massage ho jawe to kya baat hi...