Participating partners:


    सामनता मे जीयों

  • santosh kumar(blogger)
    santosh kumar(blogger)
    • Posted on January 28
    सामनता मे जीयों
    समानता अधिकत्तर लोग चाहते है लेकिन सच पूछो तो असमानता के उत्पादक ही समानता चाहने वाले है......समानता मे जीयों, यह जीना कोई सपना नही बल्कि इसकी शुरूअात आप अभी से कर सकते है।
    7 People like this
    Post Comments Now
    Comments (5)
    • santosh kumar(blogger)
      reshma sharma yah vakai bahut bari news hai...
    • santosh kumar(blogger)
      dinesh kumar chhote jaghon men bahut pareshani hoti hai pr yahan ke neta is aor dhyaan nhin dete hain.
    • santosh kumar(blogger)
      Aarish Khan आपने बहुत वाजिब चिंता जताई है
    • santosh kumar(blogger)
      santosh kumar(blogger) लगता है आपको कुछ करना अच्छा नही लगता बस सिर्फ सुनना अच्छा लगता है..........रही बात मेरी तो आप मेरे साथ रहकर देख सकते हो......परिवर्तन के साक्षी बनो
    • santosh kumar(blogger)
      Abir Anand यह बातें सुनने में बहुत अच्छी लगती है सर. क्या आप ने जीवन में इसे पालन करते हैं?