Participating partners:


    अपना शहर, काम करते एक साथ ; पर भेदभाव क्यों ! अब नहीं होगा :

  • Ghanshyam Bairagi
    Ghanshyam Bairagi
    • Posted on January 17
    अपना शहर, काम करते एक साथ ; पर भेदभाव क्यों ! अब नहीं होगा :


    सीटू की पहल पर कर्मियों को एलॉट होंगे अधिकारी वर्ग के क्वार्टर :

    भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन द्वारा, कर्मचारियों को आवास सुविधा में बड़े क्वार्टर को आबंटित नहीं किया जाता था । लेकिन, प्रबंधन के साथ बैठक और लम्बी बातचीत के बाद अब, कर्मचारियों को आवंटित करने हेतु अधिकारी वर्ग के घरों को चिन्हित किया गया है । जिन्हें S10 एवं S 11 के कर्मचारी ऑनलाइन आवेदन कर आवंटित करवा सकेंगे l
    उल्लेखनीय है कि, कर्मचारियों को NQ 1  से लेकर NQ 5 के आवास आबंटित किया जाता रहा है वही अधिकारियों के लिए EQ 1 से लेकर EQ 5 के क्वार्टर आवंटित किए जाते रहे हैं | भिलाई इस्पात संयंत्र में जब 65,000 कर्मी काम करते थे तब उनके रहने हेतु लगभग 36000 विभिन्न कैटेगिरी के आवासों का निर्माण किया गया था | कालांतर में कर्मचारियों एवं अधिकारियों के घटने तथा स्वयं के आवास में जाने के चलते अधिकारियों के लिए बने हुए आवास खाली रह जा रहे हैं, जिस पर उप महाप्रबंधक आवास श्रीमती राधिका श्रीनिवासन एवं उपप्रबंधक एम. श्रीनिवास के साथ सीटू के प्रतिनिधिमंडल की चर्चा हुई | तत्पश्चात कुछ आवासों को कर्मचारियों हेतु ऑनलाइन आबंटित करने की बात तय की गई, उसी के अनुसार इस साइकल( आबंटन परिधि ) में सेक्टर 9 के C3 एवं सेक्टर 2 के 2Q टाइप के लगभग 26 आवास कर्मचारियों को आवंटित करने हेतु ऑनलाइन डिस्प्ले किया जाएगा | यदि कर्मचारी उन आवासों को आवंटित करवाने में रुचि दिखाते हैं तो भविष्य में अधिकारीयों के रिक्त हुए क्वार्टर कर्मचारियों के आबंटन हेतु आने की संभावना है | सीटू के सुझाव पर प्रबंधन द्वारा सकारात्मक पहल पर सीटू ने धन्यवाद दिया |
    *************************
    - घनश्याम जी.बैरागी
    08827676333
    gbairagi.enews@gmail.com
    =======================

    Post Comments Now
    Comments