Participating partners:


    मुस्कुराए और धीरे से मेकैनिक के कान में बोले-

  • CHANDAN
    CHANDAN
    • Posted on March 15
    मुस्कुराए और धीरे से मेकैनिक के कान में बोले-
    एक मोटर मेकैनिक कार के इंजन के पुर्जे खोल कर सुधार रहा था,
    तभी शहर के नामचीन हार्ट सर्जन अपनी कार ठीक करवाने उसकी गैराज में आ पहुंचे।
    मेकैनिक ने डॉक्टर साहब से व्यंगपूर्वक कहा- जरा इस इंजन को देखिए डॉक्टर साहब।
    मैंने इसके दिल को खोलकर वाल्व निकाले और ठीक कर वापस लगा दिए।
    कुछ ऐसा ही काम आप भी करते हैं, फिर हमारी सैलरी में इतना अंतर क्Xzwj;यों है ?
    डॉक्टर साहब मुस्कुराए और धीरे से मेकैनिक के कान में बोले-
    यही काम तब करके दिखाओ जब इंजिन चालू हो !!!
    Guest likes 3
    Post Comments Now
    Comments (2)