Participating partners:


    मिर्ची नहीं तो क्या ...

  • Amit k. Pandey 'Shashwat'
    Amit k. Pandey 'Shashwat'
    • Posted on September 8, 2016
    मिर्ची नहीं तो क्या ...
    पत्नी 11 बजे रात में पति से स्कूटी देने का वादा ले कर खाना बनाने चली , झोला उल्टा तो सारी सब्जियां गिर गई . पत्नी ने टालने की गरज से कहा - अरे , मिर्ची और मसाला नहीं लाये खाना में क्या भूसा जैसा सब्जी खाओगे . पति muskuraya bola - अरे तुम खाना बना लो , खाने वक्त मैं तुम और तुम्हारी माता जी के बातों को सोचता रहूँगा , सब्जी खुद तीखी हो जायेगी . लेकिन पत्नी तो स्कूटी के धुन में आ चुकी थी , उसने प्यार से कहा मुझे तो सब्जी भूसा लगेगा न . पति तपाक से बोला - टेंशन नहीं नहीं लो , २० साल में मैं भी तुम दोनों से स्पिन बोली सीख लिया हूँ . तीखा लगाना मेरा काम है . पत्नी व्यंग से हंसने लगी तब पति ने googli डाल dee - लाओ मोबाइल तुम्हारी भाभी से ज़रा बात कर लूँ . पत्नी के चेहरे का रंग तीखा होने लगा , अब पति अपनी कामयाबी से मुस्कराणे लगा .
    Post Comments Now
    Comments (1)