Participating partners:


    बचपन में मैं चाहता था कि बड़ा होकर डाकू बनूं !

  • CHANDAN
    CHANDAN
    • Posted on May 25
    बचपन में मैं चाहता था कि बड़ा होकर डाकू बनूं !
    डॉक्टर (मरीज से)- जानते हो,
    बचपन में मैं चाहता था कि बड़ा होकर डाकू बनूं !
    मरीज (बड़ा सा बिल देखते हुए )- आप बहुत किस्मत वाले हैं डॉक्टर साहब,
    वरना इस दुनिया में किसके सपने सच होते हैं
    Guest likes 2
    Post Comments Now
    Comments (1)