Participating partners:


    नेता जी की 'तीज'भक्ति

  • Amit k. Pandey 'Shashwat'
    Amit k. Pandey 'Shashwat'
    • Posted on August 24
    नेता जी की 'तीज'भक्ति
    नेता जी को पत्नी ने सीधे कह दिया की आज तीज है और तुम्हे घर संभालना होगा. नेता जी भारी मुश्किल में पड़ गए. आज ही एक सभा में बहस का न्योता था औरभारी जनसमूह ke saath media की chhaavn का अवसर हाथ से निकले ना सो उन्होंने अपने बहस की शृंखला पकड़ ली. नेता जी पत्नी से -- "तुम क्या जानो , एक वर्ष में एक रोज तीज करके मुझे धौस ना दिखाओ. मैंने तो वर्षों से लगातार रोज ही तीज किया है. तुम तो जानती हो की मैं जिस दल में रहता हूँ उससे विपक्षी को भला बुरा कहके भी विरोध करता रहता हूँ . और लगे हाथ तीजे दल से जोड़ भी रक्खे रहता हूँ . तभी तो तुम्हे हमेशा सत्ता का सुख नसीब होता है . हुई की नहीं तीज भक्ति . तुम नौकर - चाकर से मदद ले लो ".पत्नी निरुत्तर और नेता जी का बहसी मूड तैयार - चल पड़े सभा की ओर .
    Guest likes 1
    Post Comments Now
    Comments